जहां तक हो आताश्री दिलमे रख आला खयालोको हसद मगरूरी दिलमेंसे निकल देनेके काबिल है

att_1475717840700_paul_wine

best-sakura-wallpaper

1415619429535_wps_40_c8dt40_handful_of_black_g

ज़ेरे लिखी गई नग़मा लिखने वाला नाजां सोलापुरी है नग़मा का अर्थ होता है गीत और नाजां का अर्थ होता है घमंडी अभिमानी
न हरममे न सुकूँ मिलता है बुतखानेमे चैन तो मिलता है साक़ी तेरे मय खाने में . हराम = क़ाबा ,मस्ज़िद ///बुतखाना = मूर्ति घर , मन्दिर सुकूँ = आनंद प्रमोद /// साक़ी = शराब पिलाने वाली // मयखाना = मदिरालय
आज अंगुरकी बेटीसे मुहब्बत करले
शेख साहबकी नसीयतसे बग़ावत करले
अंगुरकी बेटी = शराब //नसीयत = उपदेश // बग़ावत = बलवा गद्दर . ///
इसकी बेटीने उठा रख्खी है सर पर दुनिया
येतो अच्छा हुवा अंगूरको बेटा न हुवा
कमसे कम सूरते साकीका नज़ारा करले
आके मैखानेमें जीनेका सहारा करले
सूरते साक़ी= साकीका चेहरा // नज़ारा = दृश्य
आँख मिलतेही जवानीका मज़ा आएगा
पितो अंगूरके पानीका मज़ा आए गया
मौसमे गुलमे तो पिनेका मज़ा आता है
पिने वालोकोही पिनेका मज़ा आता है
आ इधर झुमके साकीका लेके नाम उठा
देख वो अब्र उठा तूंभी ज़रा जाम उठा
अब्र = बादल /// जाम = शराबक प्याला
पीनेवाले तुझे आजाएगा पिनेका मज़ा
इसके हर घूंटमें पोशीदा है जिनका मज़ा
पोशीदा = छिपा हुवा
इसको पीनेसे तबियतमे रवानी आये
इसको बूढा भी , जो पिले तो जवानी आये ,
रवानी = प्रवाह , खून दौड़ने लगे
इसके हर घूंटमे “नाजां ” है निहां दरिया दिली
इसको पीनेसे आता होती है इक ज़िंदा दिली
निहां = गुप्त //दरियादिली = विशाल हृदय
नाजां = शायरका नाम है जिसका अर्थ नहोताहै . घमंड अभिमान /// ज़िंदा दिली = खेल दिली
किसी समझदार शायरका कहना हैकि …
शराब खुदही शराबीका खून पीती है
शराबीओंसे जाके पूछो क्या उस पर बीती है
सायगल , राज कपूर , खन्नाने अच्छी इज़्ज़त कमाई
मयकश होजानेके सबबसे अपनी जान गंवाई ….संतो भाई समय बड़ा हरजाई
मयकश = शराबी
इस्लाममें शराब पीनेकी मनाई फ़रमाई गई है . हिंदुओंकी कायदाकी बुक मनु स्मृति में लिखा है की शास्त्रोमे पांच महापाप बताये गए है , जिसमे एक पाप शराब पीना है और दूसरा पाप शराबीकी पांच साल तक सतत संगती करने वाला भी पापका भागीदार है पापी है . खुदा खैर करे और सबका पाप क्षमा करे

3 responses to “जहां तक हो आताश्री दिलमे रख आला खयालोको हसद मगरूरी दिलमेंसे निकल देनेके काबिल है

  1. pragnaju October 3, 2016 at 5:03 am

    जैसा जिसके यार का चेहरा
    वैसा ही संसार का चेहरा
    किसी को अपना बना ले
    हा किसी को अपना बना ले
    या किसी का हो जा
    किसी को अपना बना ले
    हा किसी को अपना बना ले
    या किसी का हो जा
    हो खुद को पाना है तो फिर
    खुद को पाना है तो फिर
    रहे वफ़ा में खो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    अपना बना ले किसी को किसी को २
    अपना बना ले अपना
    या किसी का हो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    गीत के वास्ते रागनी चाहिए
    राह तारिक़ है रौशनी चाहिए
    होश के वास्ते मयकशी चाहिए
    है तलब अपनी अपनी सभी की यहाँ
    दर्दे दिल के लिए आशिक़ी चाहिए
    इश्क़ ही मूरत मूरत
    इश्क़ ही सूरत सूरत
    इश्क़ ही कुदरत कुदरत
    इश्क़ ही किस्मत
    दिल है तो दिल के वास्ते दिलदार चाहिए ४
    मुश्किल है प्यार पाना
    मगर प्यार चाहिए
    मुश्किल है प्यार पाना
    मगर प्यार चाहिए
    अक्ल के धोखे में मत आना
    अक्ल को होश नहीं
    क्या वो मयकश है हो
    मयखाने में मदहोश नहीं
    हो धुंध ले कोई आँख नशीली
    हा धुंध ले कोई आँख नशीली
    मस्त नशे में हो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    फूल बिना गुलज़ार अधूरा
    जाम बिना मयख्वार अधूरा
    ताश बिना दरबार अधूरा
    यार बिना संसार अधूरा २
    आधी धरती आधा अम्बर
    ये भी अधूरा वो भी अधूरा
    आधी धरती आधा अम्बर
    ये भी अधूरा वो भी अधूरा
    दोनों के मिल जाने से ही
    होता है संसार ये पूरा ३
    हर सफ़र के लिए हमसफ़र चाहिए २
    हर मुशाफिर को इक रहगुजर चाहिए २
    ज़िन्दगी के लिए ज़िन्दगी की कसम ३
    प्यार जिसमें हो ऐसी नज़र चाहिए ३
    हो जीवन धुप कड़ी है कड़ी है
    जीवन धुप कड़ी है कड़ी है
    ज़ुल्फ़ों की छाव में सो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    किसी को अपना बना ले २
    या किसी का हो जा
    हो खुद को पाना है तो फिर
    खुद को पाना है तो फिर
    रहे वफ़ा में खो जा
    किसी का बन जा बन जा
    किसी का हो जा हो जा
    Tera chehra hai aaine jaisa Jagjit singh – YouTube
    Video for youtube Tarkieb jaisa jinka▶ 4:41

    Oct 10, 2012 – Uploaded by kreet karat
    Tera chehra hai aaine jaisa Jagjit singh … Jawab Jinka Nahin – Very Romantic Ghazal By Jagjit …

    • aataawaani October 3, 2016 at 5:22 am

      मेरी अज़ीज़  प्रज्ञा बहन  तूने तो कमाल करदिया  बहुत बढ़िया   मन बहलाने वाली ग़ज़ल  भेजी  .  मैं  तेरा शुक्र  गुज़ार हूँ  छोटी  बहन  Ataai ~sacha hai dost hagiz juta ho nahi sakta   jal jaega sona firbhi kaalaa ho nahi sakta                Teachers open door, But you must enter by yourself.

      From: આતાવાણી To: hemataata2001@yahoo.com Sent: Monday, October 3, 2016 5:03 AM Subject: [આતાવાણી] Comment: “जहां तक हो आताश्री दिलमे रख आला खयालोको हसद मगरूरी दिलमेंसे निकल देनेके काबिल है” #yiv2150289530 a:hover {color:red;}#yiv2150289530 a {text-decoration:none;color:#0088cc;}#yiv2150289530 a.yiv2150289530primaryactionlink:link, #yiv2150289530 a.yiv2150289530primaryactionlink:visited {background-color:#2585B2;color:#fff;}#yiv2150289530 a.yiv2150289530primaryactionlink:hover, #yiv2150289530 a.yiv2150289530primaryactionlink:active {background-color:#11729E;color:#fff;}#yiv2150289530 WordPress.com | | |

  2. yug ghul October 11, 2016 at 6:35 pm

    You are a great poet dada

आपके जैसे दोस्तों मेरा होसला बढ़ाते हो .मै जो कुछ हु, ये आपके जैसे दोस्तोकी बदोलत हु, .......आता अताई

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: