ये गजल मेरे मयगुसार ( शराबी दोस्तो)के लिए है

ये मेरा वसीयत नामा है  मेरे अज़ीज़ अह्बाब्को  ख़ास करके मेरे बेटे सुरेश जानी को मेरी इल्तजा है की  में जब मर जाउगा  तब आप लोग  जो सोलहवा संस्कार जो अग्नि संस्कार है वो करने वाले हो ,तो मुझे जलादेनेसे पहले ये मेरा दिल निकल लेना क्योकि ये दिलका अब में मालिक नहीं हु उसका मालिक  मेरी परीशा गेसुवाली ,कातिल तबस्सुम वाली ,दिल चश्प हुस्न वाली मेरी माहलका है

मरजाऊ  जब में यारो मेरा दिल निकाल लेना मेरी माह जव्बी है मालिक जला साथमे न देना   …।

एक और इल्तजा है मेरे मर जानेके बाद किसीको रोना नहीं है  लेकिन मेरी चन्द्र मुखी  प्रेमिका  मेरा वियोग सहन नही करने  के सबब  उनकी नीली आन्खोमेसे गं गा  जम्नके पानी जैसी रवानी होगी  तो वो आन्सुका कटोरा भर लेना।

मरजाऊ जब में यारो मातम नहीं मना ना  उठा के जनाज़ा मेरा  नगमा सुनाते जाना

लाके लहदमें मुझको उल्फत के साथ रखना इत्तर के बदले  मेरी माशूक का अश्क  छिडकना  २

तुर्बत पे मेरी आना  शम्मा नहीं जलाना  दोस्ताना गर है दोस्तों  बोतल शराब लाना       ३

“आता”को याद करना  मदिरा से जाम भरना  सागर बदल बदल के  पि लेना और पिलाना

2 responses to “ये गजल मेरे मयगुसार ( शराबी दोस्तो)के लिए है

  1. pravinshastri August 25, 2013 at 5:58 am

    तुर्बत पे मेरी आना शम्मा नहीं जलाना दोस्ताना गर है दोस्तों बोतल शराब लाना
    आता…सुपर्ब…आपका जवाब नहीं…वाह वाह…पीने से पहले हि नशा गया. पीता तो नहीं, शायरभी तो नहीं, पर वख्त आने पर आपके नाम पर बोतल पी के आपकी शायरी गुनगुनाया करुंगा….अगर आपसे पहले न गया तो…..आता झिन्दाबाद.

  2. aataawaani August 25, 2013 at 9:02 am

    मेरे प्यारे शास्त्रीजी
    आप मेरे पहले कैसे जा सकते हो वहा जन्नत वाले आपको घुसने नहीं देंगे में आपका स्वागत के लिए बहुत पहले जाउंगा और आपको सो बरस्से ज्यादा मृत्यु लोकमे रहनेके लिए चित्र गुप्त को बोल दूंगा और फिर आप जब आओ तो मुझे हुरोकी गलीमे मिलना वहा में आपको मिलूँगा
    इस्राफील (यम)ने पूछा जिना (स्वर्ग )में ले जाऊ कहा तुझे ?
    मेने कहा हूरो की गलीमे लेजा मुझे हूर=अप्सरा

आपके जैसे दोस्तों मेरा होसला बढ़ाते हो .मै जो कुछ हु, ये आपके जैसे दोस्तोकी बदोलत हु, .......आता अताई

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: